Learn Tips and Tricks in hindi Online course hindi computer course, Digital Marketting bidhuna : मदरबोर्ड और चिपसेट Different between motherboard and chipset

Article Post

Saturday, December 15, 2018

मदरबोर्ड और चिपसेट Different between motherboard and chipset


मदरबोर्ड और चिपसेट Different between motherboard and chipset


प्रोसेसर की खरीदारी कर लेने के बाद मदरबोर्ड और चिपसेट की बारी आती है। आखिर इन्हीं के साॅकेट में प्रोसेसर को फिट करना है। इसमे एएमडी  और इंटेल का एक खास फर्क है। एएडी के अलग-अलग माॅडल के प्रोसेसर के लिए अलग-अलग साॅकेट होते है, जबकि इंटेल के सारे प्रोसेसर के लिए एक ही इंटेल के सारे प्रोसेसर के लिए एक ही साॅकेट होता है। इस लिहाज से कहा जा सकता है कि एएमडी प्रोसेसर के इंटरफेस पर ज्यादा ध्यान देता है। आपको मदरबोर्ड खरीदते समय यह ध्यान जरूर रखना चाहिए कि वह यूएसबी 3.0 के मुताबिक हो और उसमे आगे अपग्रेड करने के लिहाज से सुविधाएं हों यानी साटा 3 पोटर्स होने चाहिए।


एएमडी में बेसिक माॅडल के मदरबोर्ड में ई-350, ई-450 और एएमडी ए-50एम को फिट किया जा सकता है। लेकिन यह ध्यान रखे कि इसके हर बोर्ड में यूएसबी 3.0 और साटा 3 की सूविधा नहीं होगी। बेसिक माॅडल्स की कीमत पांच हजार रू तक होगी। इसके मुकाबले मिड रेंज क मदरबोर्ड में ये सुविधाएं होगी।



 इनकी कीमत साढें छह हजार रू तक होती है। इसमे ए-75 चिपसेट सबसे आधुनिक है औऱ इसमे तीन साटा 3 पोटर्स है। इसके मुकाबले ए-55 चिपसेट में यूएसबी-2.0 का सपोर्ट और सिर्फ एक साटा 3 पोर्ट है। इसका हार्ड एंज चिपसेट एएम 3+ प्रोसेसर के लिए है, जिनकी कीमत साढें आठ हजार रू तक हो सकती है। इस श्रेणी में एएमडी 970 चिपसेट सबसे अच्छा है।

हालांकि इसमे सबस महंगाा चिपसेट 990 एफएक्स है, लेकिन यह ज्यादाातर गेमर्स के लिए इस्तेमाल होने वाला है। एएमडी क मुकाबले इंटेल में एक सुविधा यह है कि इसके सारे प्रोसेसर के लिए एक ही साॅक्ट इस्तेमाल किया जाता है।


फिर भी इसके मदरबोर्ड का बेसिक माॅडल खरीदते समय भी यह ध्यान रखना होगा कि उसमे इंटेल एच61 चिपसेट हो। यह सस्ता भी है औऱ आगे सिस्टम को अपग्रेड करने की पूरी सूविधा इसमे दी गई। इनकी कीमत साढे़ तीन हजार रू तक होती है। इसके मिड रेंज क ेचिपसेट की कीमत एएमडी के मुकाबले कम है आप सिर्फ पांच हजार रू में इसका बेहतरीन मिड रेंज मदरबोर्ड खरीद सकते है।


इस लिहाज से बी 75 एक्सप्रेस सबसे अच्छा होता है। इस श्रेणी के मदरबोर्ड में यूएसबी 3.0 और साटा 3 पोर्टस होते है। हार्ड एंड मदरबोर्ड में जेड77 एक्सप्रेस का नाम लिया जा सकता है, जिसकी कीमत ग्राफिक्स कार्ड यूज किए जा सकते है। यह बुनियादी रूप गेमर्स के लिए है।


सिस्टम इंफोर्मेशन की सुरक्षा हेतु कंप्यूटर सिक्यूरिटी - System secruity

 

पीसी और लैपटाॅंप की सुरक्षा के लिए यहां कुछ महत्वपूर्ण टिप्स दिए गए है। जिनका ध्यान रखे तो अपने सिस्टम को हैकिंग, मैलवेयर, वायरस आदि संभावित खतरों से बचाया जा सकता हैं।


फायरवाल उपयोग करें  

फायरवाल एक साॅफ्टवेयर सिस्टम है जो आपके कंप्यूटर के इनकमिंग और आउटगोईग इंटरनेट कनेक्शन पर नजर रखता है। जैसे कि Comodo firewall जो न केवल फ्री है बल्कि इस्तेमाल में है।

एंटीवायरस उपयोग करें  

एंटीवायरस प्रोग्राम को उपयोग करने के कई कारण हैं। किंतु लोग तो एंटीवायरस का उपयोग ही नहीं करते हैं औऱ जो उपयोग करते है वे इसे अपडेट नहीं करते हैं जबतक कि उसका परमिट लैप्स नहीं हो जाता है किंतु वायरस आदि से कंप्यूटर को बचाने और सुरक्षित रखने के लिए एंटीवायरस इंस्टाॅल करना जरूरी है।


अपग्रेड करें साॅफ्टवेयर सिस्टम 

 विंडोज जैसे आँपरटिंग सिस्टम या साॅफ्टवेयर सिस्टम में हर दिन नई परेशानियां देखने में आती हैं हालाकि साॅफ्टवेयर सिस्टम को अपग्रेड करना अनिवार्य हो जाता है क्योकि यह आपके सिस्टम को हैकिंग से बचाता है तथा सिस्टम भी आसानी से चलाता है।

जटिल पासवर्ड बनाएं 

हैकर्स से सिस्टम को बचाने के लिए जटिल पासवर्ड बनाना जरूरी है क्योंकि आज ऐसे साॅफ्टवेयर मौजूद है जो संभव कम्बीनेशन के जरिए पासवर्ड तोड़ने में महारत रखते हैं. इसे brutefore technique कहा जाता है। आमतौर पर 4 या 5 करैक्टर्स् वाले पासवर्ड बनाए जल्दी हैक हो जाती हैं इसलिए 8-9 कैरेक्टर्स वाले पासवर्ड बनाए जिनमें नंबर्स, लैटर्स, स्पेशल कैरेक्टर्स आदि हों। यदि पासवर्ड की मजबूती जांचना चाहें तो उसके लिए इंटरनेट पर कई टूल्स उपलब्ध हैं।


बिल्कुल अलग पासवर्ड उपयोग करें 

कुल लोग इंटरनेट पर हर जगह एक ही पासवर्ड उपयोग करते रहते हैं। हालांकि सभी एकाउंट के पासवर्ड याद रखना मुश्किल होता है किंतु सुरक्षा की दृष्टि से अलग अलग पासवर्ड ही रखने चाहिए क्योंकि एक एकाउंट हैक होने पर भी बाकी एकाउंट सुरक्षित रहेगें। 

No comments:

Post a Comment

www.dccbidhuna.com Comment Message sent Successful:

native