Free advertising company bidhuna Learn Tips and Tricks in hindi: What is disk,directory,and Files डिस्क,डाइरेक्ट्री एवं फाइल्स का मतलब

Tuesday, November 27, 2018

What is disk,directory,and Files डिस्क,डाइरेक्ट्री एवं फाइल्स का मतलब

What is Disk, Directory and Files डिस्क,डाइरेक्ट्री एवं फाइल्स का मतलब

इन तीनों को समझने के लिए आप एक आॅफिस कैबिनेट की कल्पना कीजिए। इस आॅफिस कैबिनेट की तुलना डिस्क अथवा ड्राइव से,कैबिनेट की दराजोों की तुलना डाइरेक्ट्रीज से एवं दराजो में रखी फाइल्स(Files) की तुलना कंप्यूटर फाइल्स से की जा सकती है।
इस तीनो के सम्बन्ध को स्पष्ट करने के लिए हम एक और उदाहरण देते है। आपने पेड़ तो देखा ही होगा। इशे तना,शाखाएं वृक्ष का तना ड्राइव या रूट डाइरेक्ट्री है, शाखा डाइरेक्ट्री, उप-शाखा उप-डाइरेक्ट्री औऱ पत्तियां फाइल्स है।


डिस्क अथवा ड्राइव  :

डाॅस में कंप्यूटर में लगी फ्लाॅपी डिस्क ड्राइव्स हार्डडिस्क के पार्टीशन्स एवं सी.डी ड्राइव को डिस्के के रूप में जाना जाता है। C:, D:, आदि हार्डडिस्क के पार्टीश्न्स के ऐड्रैस है। हार्डडिस्क के अन्तिम पार्टीशन्स के अक्षर के बाद वाला अक्षर  सी. डी रोम ड्राइव को निरूपित करता है A:, B:, C:, D:, आदि को हम मूल डाइरेक्ट्री (Root Directory )भी कहते है।
 
Computer_drive
Computer Drive

डाइरेक्ट्री :

जिस प्रकार आॅफिस कैबिनेट की दराजों के नम्बर होते है, इसी प्रकार डिस्क में विभन्न फाइल्स को डाइरेक्ट्ररीज में रखा जाता है। डाइरेक्ट्री को एक नाम दिया जाता है, यह नाम आठ अक्षरों तक का हो सकता है। डाइरेक्ट्री में किसी कार्य विशेष स सम्बन्धित फाइल्स को रखा जाता है। जिस प्रकार आॅफिस कैबिनेट की किसी दराज में दो अथवा अधिक हिस्से होते है, उसी प्रकार किसी डाइरेक्ट्ररी में उप-डाइरेक्ट्ररी का निर्माण किया जाता है।

 
Computer_Directory
Computer_Directory

फाइल :

कंप्यूटर में डेटा, प्रोग्राम, साॅफ्टवेयर आधि सुरक्षित रखने के लिए फाइल की आवश्यकता होती है। प्रोग्राम फाइल्स की सहायता से ही कम्यूटर को निर्णय लेने में मदद मिलती है। इसे हम इस प्रकार भी समझ सकते है कि कम्प्पयूटर में प्रत्येक प्रोग्राम,डेटा फाइल्स में सुरक्षित रखा जाता है। ये फाइल्स तीन प्रकार की होती है। 

Computer files
Computer files

  • Data File
  • Program File
  • Sub-directory File 
 
 

 Data File (डेटा फाइल):-

किसी भी प्रकार के डेटा को कंप्यूटर हार्ड डिस्क, फ्लाॅपी डिस्क, अथवा अन्य किसी प्रकार की संरचना युक्ति में सुरक्षित रखने के लिए डेटा फाइल (Data File) का प्रयोग किया जाता है। इन फाइल को हम डाॅस में कोपी (Copy) Con Command अथवा किसी एप्लीकेशन साॅफ्टवेयर की सहायता से बना सकते है।


Program File (प्रोग्राम फाइल)  

 इस प्रकार की फाइल्स किसी साफ्टवेयर की मुख्य फाइल्स होती है, जो आॅपरेटिंग सिसट्म पर कार्यान्वित की जा सकती है। यह फाइल मुख्यता चार प्रकार की होती है--() Exe, Com, Bat, Sys इन फाइलो को Programming Languages की सहायता से बनाया जाता है। यहाॅ ध्यान रखने योग्य बात है कि .EXE, .COM, .BAT, .SYS, विस्तारित नाम का प्रयोग डेटा फाइल के लिेए नहीं करना चाहिए। 


उप-डाइरेक्ट्ररी फाइल (Sub-Directory File)

यह फाइल उप-डाइरेक्ट्री को सुरक्षित रखने के काम आती है। इन्हे डिस्क फाइलस के रूप में प्रयोग किया जाता है। 

No comments:

Post a Comment

www.dccbidhuna.com Comment Message sent Successful: