Learn Tips and Tricks in hindi Online course hindi computer course, Digital Marketting bidhuna : मोबाइल का सफरनामा | मोबाइल कब आया |Mobile ki jankari

Article Post

Monday, December 24, 2018

मोबाइल का सफरनामा | मोबाइल कब आया |Mobile ki jankari

मोबाइल के बिना आज हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते। हमारा वही मोबाइल फोन रेडिएशन के साइ़ड इफेक्ट की वजह से फिर एक बार चर्चा में है। रेडिएशन मोबाइल से निकालने वाली ऐसी तरंगे है जो हमारी सेहरत औऱ आस-पास रहने वाले जीवों के लिए भी हानिकारक है, किन्तु यह रहेगा तो हमारे जीवन का हिस्सा ही । क्या आफको मालूम है हमें देश दुनिया से जोडने वाले मोबाइल के इस जादुई सफर के बारे में-

मोबाइल का दुनिया में पहला कदम-

  • 1973 पहली बार आसानी से कहीं भी ले जाए जाने वाले पोर्टेबल मोबाइल फोन को मोटोरोला कंपनी के डाॅ. मार्टिन कपूर ने बनाया।
  •  1977 में मोबाइल फोन का पहली बार ट्रायल शिकागों के दो हजार लोगो ने किया।
  • 1983 में मोटोरोला कंपनी ने मोबाइल फोन का परिचय दुनिया से करवाया, जिसका नााम था मोटोरोलाा डायना टेक।

  सबसे पहला मोबाइल फोन

इस फोन में डिस्पले के लिए कोई स्क्रीन नहीं होती थी। सिर्फ फोन मिलाने और फोन रिसीव करने की सुविधा थी। इश फोन की लंबाई नौ इंच और वजन एक किलो था। इसकी कीमत दो लाख रूपये के करीब थी।


मोबाइल फोन में  आए बदलाव

  • 1989 में  कम वजनी लैप वाले मोबाइल आए।
  • 1991 में जीएसएम मोबाइल की शूरुआत हुई। उसी साल पहला सिम कार्ड भी अस्तित्व में आया।
  • 1992 में एसएमएस भेजने की शूरुआत हुई। पहला मैसेज कंप्यूूटर से मोबाइल पर ब्रिटिश इंजीनियर नील पापवर्थ ने अपने दोस्त को मैरी क्रिसमस लिखकर भेजा था। इसके बाद 1993 में फिनलैंड में मोबाइल से मोबााइल पर पहला मैसेज भेजा गया।
  • 1993 में फोन नंबरो को सुरक्षित करने के लिए फोन डायरी की सुविधा दी गई।
  • 1994 मोबाइल में पहला गेम खेलने की सुविधा दी गई। पहला गेम टेटरिस था। इसी साल सोनी एरिक्सन कंपनी ने डाटा को एक मोबाइल से दूसरे तक पहुचाने के लिए ब्लूटूथ की खोज की।
  • 1993 पहला डिस्प्ले स्क्रीन वाला मोबाइल फोन बना। इसके पहले किसी भी फोन में स्क्रीन नहीं होती थी।
  • 1997 पहला कैमरा फोन फिलिप कान ने बनाया इन्होने इस फोन से पहली तस्वीर अपनी बेटी की उतारी।
  • 1998 मोबाइल में रिंगटोन का चलन शुरू हुआ।
  • 2002 पहला 3जी फोन  लांच।
  • 2002 की-पैड की जगह टच स्क्रीन ने ले ली है। पहली पूरी तरह टच स्क्रीन वाला मोबाइल फोन लांच हुआ।
 
  •  

No comments:

Post a Comment

www.dccbidhuna.com Comment Message sent Successful:

native