Learn Tips and Tricks in hindi Online course hindi computer course, Digital Marketting bidhuna : आंखो के साथ दिल भी खराब करता यै टीवी The heart also spoils with eyes, TV

Article Post

Friday, January 4, 2019

आंखो के साथ दिल भी खराब करता यै टीवी The heart also spoils with eyes, TV

छह साल तक के बच्चे अगर घंटो टीवी देखेंगे या वीजियो गेम खेलेगे तो उन्हें आगे चलकर दिल की बीमारियां होने का खतरा ज्यादा रहेगा। यह बात सिडनी यूनिवर्सिटी के भारतीय मूल के वैज्ञानिक की स्टडी में सामने आया है। प्राइमरी लेवल में पढ़ने वाले 1492 बच्चो की स्टडी करने के बाद के बाद डा. बामिनी गोपीनाथ इस नतीजे पर पहुचे। जो बच्चे घंटो टीवी से चिपके रहते थे, उनकी आँखो की खून की नलियां सिकुड गई। यह स्थिति  अपने आप शुरूआती वाॅनिग है कि बच्चे को आगे जाकर दिल की बीमारी औऱ हार्ड ब्लड प्रेशन होने का खतरा ररहेगा। हालांकि जिन बच्चों ने रोजाना कम से कम एक घंटा एक्सरसाइज किया, वे ज्यादा स्वस्थ पाए गए।
स्टडी से पता लगता है कि गलत जीवनशैली शरीर के माइक्रो सर्कुल्शन सिस्ट पर बचपन से ही असर डालने लगती है। स्टडी में देखा गया कि बच्चे टीवी देखन या कम्यूअर पर गेम खेलने में रोजना औसतन 1.9 घंटा बिताते हैं, जबकि शारीरिक गतिविधि सिर्फ 36 मिनट ही करते है

मच्छर खुद करेंगे मलेरिया का खात्मा

दुनिया में हरसाल करीब आठ लाख लोगों की जान लेने वाले मलेरिया पर जल्द काबू पा लेने की उम्मीद बंधी है। वैज्ञानिकों ने मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों के डीएनए में जेनेटिक तब्दीली की है इससे मलेरिया समेत कई और बीमािरयो पर कंट्रोल की उम्मीद है। दुनिया में मच्छरो की करीब 35000 प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ ही मलेरिया के लिए जिम्मेदार पररर जीवी प्लाज्मोडियम फाल्सीपैरम की वाहक होती है। इस मिशन कर कररीब 10 साल से काम कर रहे वैज्ञानिकों ने मलेरिया की सबसे बडी वजह एनाफिलीज फैलाने वाले जीन को माॅडिफाई करके फ्लोरोसेंट जीन के साथ प्रविष्ट कराया मकसद इश जीन को आसानी से पहचाना करना था। इस जीन ने ऐसा प्रविष्य कराना था। ऐसा एंजाइन पैदा किया, जिसने प्लज्मोडियम फाल्सीपैरम फैलाने वाले जीन को खत्म करना शुरू कर दिया इसके बाद इन मच्छरो को अन्य मच्छरो के संपर्क में लाया गया। साइंस जर्नल नेचर की रिपोर्ट के मुताबिक, मच्छरो की पहली पीढ़ी में फ्लोरोसेंट जीन की तादाद ठीकठाक थी, लेकिन 12वीं पीढ़ी में यह करीब 99 फीसदी कम हो गई।

No comments:

Post a Comment

www.dccbidhuna.com Comment Message sent Successful:

native